देश-विदेश घूमिए वो भी बिलकुल फ्री…फ्री….फ्री

आज हम अपनी ट्रेवल जुनून साइट में आपको एक ऐसे सच्ची स्टोरी बताने वाले हैं जिसे पढ़ने के बाद आप पूरी दुनिया घुमने तो निकलेंगे लेकिन वो भी बिना रुपये लिए। अगर आप ऐसा सोच रहे हैं कि हम मजाक कर रहे हैं, तो ऐसा बिलकुल भी नहीं है। जी हां, हम आपको यहां बाती ग्रुप (backpackers & travelers india) के ट्रैवलर की स्टोरी बताने जा रहे हैं जिनका नाम है शिवम। शिवम की ये रियल स्टोरी बेहद इंटरेस्टिंग है जिसको पढ़कर आपको दुख भी होने वाला है और खुशी भी। अब आप सोच रहे होंगे कि दुख क्यों? तो हम आपको बता दें कि आपको ये स्टोरी पूरी पढ़ने के बाद बता चलेगा कि आपने घूमने के लिए कितना ज्यादा रुपए खर्चा कर दिया है जबकि आप मुफ्त में देश-विदेश घूम सकते हैं। साथ हीआपको खुशी इस बात की होने वाली है कि अब आपको घूमने के लिए रुपयों की चिंता नहींकरनी पड़ेगी। क्योंकि अब आपके लिए सबकुछ होगा फ्री…फ्री….फ्री…..

जानिए कैसे होने वाली है आपकी मुफ्त की सैर

हम में से ऐसे बहुत लोग हैं जो घूमने के नाम से ही भागते हैं। ऐसा इसलिए नहीं क्योंकि उन्हें घूमना नहीं पसंद बल्कि वो ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकिउन्हें पता होता है कि घूमने के लिए उन्हें कितना रुपए खर्च करना पड़ सकता है।लेकिन हमारे बाती ग्रुप के ट्रैवलर शिवम ने देश-विदेश घूम के दिखाया वो भी बिलकुल फ्री में। दरअसल शिवम जब अपने घर से निकले तो उनके पास बिलकुल भी रुपये नहीं थे।लेकिन उन्होंने कैसे इतने दिन बिना रुपयों के लिए सर्वाइव किया आइए जानते हैं-

घूमने के लिए हमारे पैसे 3 जगहों पर खर्च होते हैं-

पहला accommodation यानी कि रुकने, ठहरने के लिए जगह।

दूसरा fooding खाना-पीना

तीसरा transportation एक जगह से दूसरे जगह जाने के लिए बस, टैक्सी …..के लिए खर्च करना

लेकिन अगर हमें इन तीनों के लिए एक भी रुपये न खर्चा करना पड़े तो, दरअसल हमें रुपये बचाने के लिए couchsurfing  का सहारा लेना चाहिए। बता दें कि  couchsurfing एक इंटरनेट वेबसाइट है जहां आप अपने घर में यात्री की मेजबानी कर सकते हैं और साथ ही आप किसी अन्य व्यक्ति के घर में मुफ्त में रह सकते हैं।

Couchsurfing के जरिए न सिर्फ आपको मुफ्त में रहने को मिलेगा बल्कि आपको बहुत कुछ नया सिखने को भी मिलेगा। ट्रैवलर शिवम का कहना है कि उन्हें इसके जरिए बहुत कुछ सिखने को मिला है और साथ ही उन्हें पूरा शहर देखने का मौका भी मिला है। यहां उन्हें लोगों के जरिए अलग-अलग तरह का स्वादिष्ट खाना भी मुफ्त में खाने को मिला है। जब आप  couchsurfing  का सहारा लेते हैं तो आपको हिंडन प्लेस भी दिखाते हैं जोकि आपने कभी नहीं देखा होगा। साथ ही आपको खुद से अपना और लोगों का खाना बनाने का मौका भी मिलता है। एक तरह से अगर आप अच्छे कुक हैं तो आपको अपना टैलेंट दिखाने का मौका भी दिया जाता है।

तीसरा transportation एक जगह से दूसरे जगह जाने के लिए बस, टैक्सी …..के लिए खर्च करना 

लेकिन अगर हमें इन तीनों के लिए एक भी रुपये न खर्चा करना पड़े तो, दरअसल हमें रुपये बचाने के लिए couchsurfing  का सहारा लेना चाहिए। बता दें कि  couchsurfing एक इंटरनेट वेबसाइट है जहां आप अपने घर में यात्री की मेजबानी कर सकते हैं और साथ ही आप किसी अन्य व्यक्ति के घर में मुफ्त में रह सकते हैं।




शिवम का कहना है कि उन्हें इसके जरिए बहुत कुछ सिखने को मिला है और साथ ही उन्हें पूरा शहर देखने का मौका भी मिला है। यहां उन्हें लोगों के जरिए अलग-अलग तरह का स्वादिष्ट खाना भी मुफ्त में खाने को मिला है। जब आप  couchsurfing  का सहारा लेते हैं तो आपको हिंडन प्लेस भी दिखाते हैं जोकि आपने कभी नहीं देखा होगा। साथ ही आपको खुद से अपना और लोगों का खाना बनाने का मौका भी मिलता है। एक तरह से अगर आप अच्छे कुक हैं तो आपको अपना टैलेंट दिखाने का मौका भी दिया जाता है।

शिवम ने अपने ब्लॉग में बताया कि उन्हें तीन अलग-अलग देशों में गैस स्टेशन और पुलिस स्टेशन पर अपनी रात बिताने का भी मौका मिला। उनका कहना है कि आपको वहां मुफ्त में रहने के लिए शर्माना नहीं चाहिए क्योंकि पुलिस फॉर्रनर्स से बेहदअच्छे सलीखे से पेश आती है। वहां आपको खाने की चीजें भी बड़ी ही आसानी से मिल जाएगी। साथ ही आपको हर वक्त अपने साथ टेंट रखना चाहिए क्योंकि जब आपको कोई और रास्ता न दिखे तो आप मंदिर, मस्जिद, चर्च या कहीं भी टेंट लगा कर रह सकते हैं।


मुफ्त में खाना खाने का एक रास्ता मैनें आपको पहले ही ऊपर बताया अब दूसरा रास्ता जानते हैं।

मुफ्त में और सस्ता खाना खाना है तो आपको कभी भी रेस्टोरेंट में जाने की जरूरत नहीं है। इसके बदले आपको सुपरमार्केट से कुछ सस्ता खरीद कर स्ट्रीट पर कहीं भी बैठ कर खा सकते हैं। मुफ्त का पानी पीने के लिए आपको भी शिवम की तरह हमेशा अपने साथ एक खाली बोतल रखनी चाहिए और किसी भी रेस्टोरेंट या फिर किसी से प्लीज कह कर आप अपनी बोतल में पानी ले सकते हैं। वैसे भी पानी एक ऐसी चीज है जिसके लिए कोई भी आपको मना नहीं करेगा।

अब सबसे जरूरी चीज जिसके लिए आप अपने घर से इतना दूर निकल आए हैं मतलब कि एक जगह से दूसरे जगह जाए कैसे वो भी बिलकुल मुफ्त में। इसके लिए आपके पास दो रास्ते हैं।

-पहला रास्ता शहर के अंदर ही घूमने के लिए

आप शहर के अंदर घूमने के लिए टैम्पो या रिक्शा की जगह लोकल बस का सहारा ले सकते हैं। वहीं अगर आपकी मंजिल केवल कुछ दी दूरी मतलब की 4 से 5 किलोमीटर पर ही है तो आप ये यात्रा पैदल भी कर सकते हैं।

-कैसे जाए एक शहर से दूसरे शहर

शिवम ने एक शहर से दूसरे शहर जाने के लिए hitch-hike का सहारा लिया। hitch-hike का मतलब गुजरने वाले वाहनों में मुफ्त में लिफ्ट लेकर यात्रा करना। शिवम ने hitch-hike की मदद से 5 देशों की सैर की। शिवम का मानना है कि ये सबसे सस्ता और ठिकाऊ जरिया है एक जगह से दूसरे जगह जाने में। साथ ही शिवम ने बताया कि hitch-hike के दौरान उन्हें कई बेहतरीन लोगों से मिलने का मौका मिला। उनकी सबसे खास बात तो ये रही कि इस दौरान उन्हें कजाकिस्तान के मेयर से भी मिलने का मौका मिला। 
इन जरियों से आप भी शिवम की तरह कुछ पैसे कमा सकते हैं-
शिवम ने अपनी यात्रा के दौरान कुछ रुपये भी कमाए जो कि उन्होंने हमारे साथ साझा किया।
शिवम ने बताया कि Russia में घूमने के दौरान उन्होंने नैनी का काम किया मतलब कि घर पर रूक कर बच्चों को देखना। इस काम के लिए शिवम को 15$/प्रति घंटे के हिसाब से कमाने का मौका मिला। कुल 5 दिनों तक काम करके उन्होंने ने अपने .....का खर्चा चुटा लिया था। 
आप इंटरनेट पर काम ऑनलाइन काम करके भी आसानी से कुछ रुपये जुटा सकते हैं। इंटरनेट पर कई तरह की आनलाइन जॉब उपस्थित है। 
आप यूट्यूब पर अपना ट्रैवल ब्लॉग भी बना सकते हैं। ये भी आपको पैसा कमाने में आपकी मदद करेगा। 
कैसा रहा शिवम का एक्सपीरियंस
शिवम ने बताया “मेरी पूरी यात्रा के दौरान मुझे कहीं भी ऐसा फील नहीं हुआ कि मेरे पास पैसे नहीं है, बल्कि हर वक्त मुझे अमीर होने का एहसास होता रहा। हां, मुझे रोज ठहरने के लिए थोड़ी मेहनत जरूर करनी पड़ती थी लेकिन मेरी हर रातें बड़ी ही आरामदायक बीतीं। मुझे ये पता नहीं होता था कि मेरा कल का वक्त कैसा होगा, मुझे खाने के लिए कुछ नसीब होगा भी या नहीं। लेकिन फिर भी मेरी ये यात्रा मुझे उम्रभर याद रहने वाली है क्योंकि मुझे इतना अच्छा कभी भी फील नहीं हुआ था। मुझे कभी अलग-अलग तरह की चीजों का अनुभव मिला जोकि जिंदगी भर मेरे साथ ही रहने वाली हैं। ये एक तरह का मेरे लिए चैलेंज था जिसको मैनें खुशी-खुशी पूरा किया”। 
 
 
News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: