जयपुर (Jaipur) में है बंदरों का अनूठा मंदिर, घूमना चाहेंगे आप?

Rajasthan Tourism | Jaipur Places | Jaipur Top Tourist Places | Jaipur Travel Tips | Jaipur Tourist Spots | Rajasthan Travel Spots| राजस्थान की राजधानी जयपुर को पिंक सिटी के तौर पर भी जाना जाता है. पुराने जयपुर शहर की इमारतें, किलें पर्यटकों को आकर्षित करते हैं. ऐतिहासिक भवन, किले, इमारतें शहर की शान हैं. जो एंडवेंचर के शौकीन हैं वो जयपुर में हॉट एयर बैलून सफारी पर भी निकल सकते हैं. आइए जानते हैं जयपुर की वो जगहें जहां पर आप घूम सकते हैं.

आंबेर का किला (Amber Fort and Palace) :

ADDRESS- Devisinghpura, Amer, Jaipur, Rajasthan 302001, India

शहर के मध्य से आधे घंटे की ड्राइव के बाद आप यहां पहुंच सकते हैं. ये जगह आपको किसी परीकथा जैसा अनुभव कराएगी. आंबेर किला पहाड़ के ऊपर स्थित है और इसके ठीक सामने माओटा झील है. जय जगह राजपूत राजाओं का घर रहा है. इस किले में चकित कर देने वाली जगहें हैं, हॉल, गार्डन, मंदिर भी इस किले में हैं. शीशे का कार्य इस महल की सुंदरता में चार चांद लगा देता है. हर शाम होने वाला साउंड और लाइट शो किले के इतिहास को जीवंत कर देता है.

Location: जयपुर से उत्तर की तरफ, हवा महल से आंबेर फोर्ट के लिए बसें लगातार उपलब्ध रहती हैं. टैक्सी भी मिलती है.

Entry Cost: विदेशी सैलानियों के लिए 500 रुपये फीस. भारतीय पर्यटकों के लिए 100 रुपये. नाइट एंट्री 100 रुपये.

Opening Hours: सुबह 8 बजे से शाम साढ़े 5 बजे तक और रात्रि में 7 बजे से 10 बजे तक. ध्यान रहे किले में हाथी की सवारी सिर्फ सुबह साढ़े 11 बजे तक ही संभव है.

सिटी पैलेस (City Palace)

Address- Jaleb Chowk, Opp Jantar Mantar, Gangori Bazaar, J.D.A. Market, Kanwar Nagar, Jaipur, Rajasthan 302002, India

इस जादुई सिटी पैलेज को देखकर आप आसानी से अंदाजा लगा सकते हैं कि जयपुर का शाही परिवार कितना धनाड्य था. इस पैलेस को मुगल और राजस्थानी शैली में बनाया गया है. शाही परिवार आज भी यहां रहता है. वह यहां के चंद्रमहल में रहता है. आप अतिरिक्त खर्च से पर्सनल गाइड लेकर प्राइवेट कमरों को देख सकते हैं.

सिटी पैलेज के अंदर म्युजियम, आर्ट गैलरी, शाही पोशाक और पुराने भारतीय हथियार भी देख सकते हैं. पेंटिंग और फोटोग्राफी के नई एग्जिबिशन हाल में शुरू की गई है, इसमें इस जगह पर महिलाओं की पुरानी तस्वीरें भी शामिल हैं. इसके अतिरिक्त, सिटी पैलेस को रात में भी देखा जा सकता है. रात में यहां साउंड और लाइट शो होता है.

लोकेशनः Chokri Shahad, Old City, Jaipur.

एंट्री फीसः सिटी पैलेस के लिए अलग अलग टिकट ऑप्शन हैं. यह इसपर निर्भर करता है कि आप इसे कितना देखना चाहते हैं. यह भारतीयों के लिए 130 रुपये से शुरू होकर विदेशियों के लिए 500 रुपये तक है. रात में म्युजियम की फीस विदेशियों के लिए 900 रुपये और भारतीयों के लिए 450 रुपये है.

समयः सुबह साढ़े 9 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक और रात में 7 बजे से लेकर 10 बजे तक.

हवा महल (Hawa Mahal)

ADDRESS- Hawa Mahal Rd, Badi Choupad, J.D.A. Market, Kanwar Nagar, Jaipur, Rajasthan 302002, India

हवा महल वक्त से साथ जयपुर की पहचान बन चुका है. 1799 में बने इस महल में 5 मंजिलें हैं और इसमें झरोखों की श्रृंखला हैं. झरोखों, खिड़कियों से बहती हवा की वजह से इसका नाम हवा महल दिया गया. हालांकि, क्योंकि अब ज्यादातर खिड़कियों को बंद कर दिया गया है इसलिए महल के अंदर हवा की मौजूदगी भी कम हो गई है. इसका निर्माण महल में रह रही महिलाओं को बाहर देखने के लिए किया गया था. वह भी इस तरह से कि महिलाओं को कोई देख न सके.

लोकेशनः सिटी पैलेस से आगे. बिल्डिंग के पिछले हिस्से से प्रवेश.

एंट्री फीसः 50 रुपये भारतीयों के लिए और 200 रुपये विदेशियों के लिए

समयः सुबह 9 बजे से शाम साढ़े 4 बजे तक

जंतर-मंतर (Jantar-Mantar)

ADDRESS- Malve Nagar, J.D.A. Market, Pink City, Jaipur, Rajasthan 302007, India

जंतर-मंतर को राजा जय सिंह द्वितीय ने 1727 से 1734 के बीच बनाया था. इसका सीधा अर्थ कैलकुलेशन इंस्ट्रूमेंट है. यह एक खगोलीय वेधशाला है. यह यूनेस्को के ‘विश्व धरोहर सूची’ में भी शामिल है. इस वेधशाला में 14 प्रमुख यन्त्र हैं जो समय मापने, ग्रहण की भविष्यवाणी करने, किसी तारे की गति एवं स्थिति जानने, सौर मण्डल के ग्रहों के दिक्पात जानने आदि में सहायक हैं. इन यन्त्रों को देखने से पता चलता है कि भारत के लोगों को गणित एवं खगोलिकी के जटिल संकल्पनाओं (कॉंसेप्ट्स) का इतना गहन ज्ञान था कि वे इन संकल्पनाओं को एक ‘शैक्षणिक वेधशाला’ का रूप दे सके ताकि कोई भी उन्हें जान सके और उसका आनन्द ले सके.

लोकेशन: सिटी पैलेस से आगे, जयपुर

एंट्री फीसः 50 रुपये भारतीयों के लिए और 200 रुपये विदेशियों के लिए

समयः सुबह 9 बजे से शाम साढ़े 4 बजे तक हर रोज

नाहरगढ़ किला (Nahargarh Fort)

ADDRESS- Krishna Nagar, Brahampuri, Jaipur, Rajasthan 302002, India

नाहरगढ़ किला, टाइगर फोर्ट के नाम से भी जाना जाता है. यह अरावली पहाड़ों पर स्थित है और यहां से आप पूरे जयपुर का नजारा ले सकते हैं. इस किले का निर्माण 1734 में शहर की सुरक्षा के लिए किया गया था. इसे 2006 में तब प्रसिद्धि मिला जब फिल्म रंग दे बसंती के कई सीन यहां फिल्माए गए. नाहरगढ़ फोर्ट कई सुंदर दृश्य दिखाता है लेकिन सूर्यास्त के समय अगर आप यहां मौजूद हैं तो यकीन मानिए, उस पल को आप भूल नहीं सकेंगे. हाल में किले में नई चीजों की शुरुआत हुई है जिसमें वैक्स म्युजियम, स्क्लप्चर पार्क, फाइन डायनिंग रेस्टोरेंट है. यहां एक सरकैारी कैफे भी है, जहां से आप रात 10 बजे तक अल्कोहल और स्नैक्स खरीद सकते हैं. रात को रोशन से जगमगाने के बाद किले की खूबसूरती और बढ़ जाती है.

लोकेशनः जयपुर सिटी सेंटर से उत्तर पश्चिम. स्थानीय बस, टैक्सी से आप आप यहां आधे घंटे की ट्रैक से पहुंच सकते हैं.

एंट्री फीसः 50 रुपये भारतीय और 200 रुपये विदेशी सैलानियों के लिए

समयः सुबह 10 बजे से शाम साढ़े 5 बजे तक

जयगढ़ किला (Jaigarh Fort)

ADDRESS- Devisinghpura, Amer, Rajasthan 302028, India

जयगढ़ किला 1726 में निर्मित किया गया था और मिलिट्री लवर्स के लिए यहां खास आकर्षण मिलता है. यहां दुनिया की सबसे बड़ी पहिए वाली तोप है. हालांकि इस कैनन से कभी गोला दागा नहीं गया और न ही इस किले पर कभी कब्जा किया जा सका. इसी का परिणाम है कि तोप वर्षों तक अछूत रही और उसे सुरक्षित किया जा सका. खासतौर से, यह मध्यकाल में भारत की सबसे अहम सुरक्षित सैन्य निशानी है. हालांकि, जयगढ़ किला आंबेर फोर्ट से काफी अलग है.

लोकेशनः जयपुर से उत्तर. आंबेर किले से पैदल रास्ता.

एंट्री फीसः 35 रुपये भारतीयों के लिए और 85 रुपये विदेशी सैलानियों के लिए

समयः सुबह 9 बजे से शाम साढ़े 4 बजे से

बंदरों का मंदिर (Monkeys Temple)

ADDRESS- Galta Ji, Jaipur, Rajasthan 302031, India

ये पवित्र हिंदू मंदिर एक शांत जगह 2 चट्टानों के बीच बना हुआ है. यहां जाना थोड़ा एडवेंचरस हो सकता है. ये मंदिर एक बड़े मंदिर परिसर का हिस्सा है जिसमें 3 पवित्र सरोवर हैं. एक सरोवर में हजारों बंदरों का कब्जा रहता है जो यहां के पानी में नहाते रहते हैं. ये बंदर आमतौर पर दोस्ताना हैं और इन्हें खाने का सामान भी दिया जाता है. दुर्भाग्यवश, इस जगह को अच्छे से संजोकर नहीं रखा गया है. यहां गंदगी से सामना करने के लिए आपको तैयार रहना चाहिए. यहां स्थानीय लोगों की मौजूदगी कम ही रहती है.

लोकेशनः शहर के पूर्वी छोर पर. आगरा रोड पर गाल्टा पोल के बाहर. आपको यहां पहुंचने के लिए सफेद सूर्य मंदिर पहुंचना होगा. उसके बाद नीचे आकर जॉर्ज की ओर चलना होगा.

एंट्री फीसः फ्री

समयः सूर्यास्त से थोड़ा पहले पहुंचे तो बेहतर

अगर आपको ये लेख पसंद आया है तो इसे दोस्तों से जरूर शेयर करें. हमारा फेसबुक पेज Like करना न भूलें

News Reporter
Shamsher Khan is a techie travel blogger exploring India's hidden treasure and secret places most he is traveling and enjoying laptop lifestyle since 2011

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: