दिल्ली के पास कीजिए जमकर घुमक्कड़ी, 2 हजार रुपये में ये हैं Best Spots…

घूमने की तमन्ना किसे नहीं होती! हम सभी घूमना चाहते हैं, हम सभी भागदौड़ भरी जिंदगी से कुछ पल चुरा लेना चाहते हैं. कश्मीर की वादियां हों, उत्तर पूर्व के अद्भुत नजारे हों, सुदूर पश्चिम के रेतिले मैदान हों, दक्षिण की छटा हों, हर कोई इसमें डूब जाना चाहता है. वक्त की कमी और पैसों की बचत करने की मजबूरी हमें कई बार खुलकर घूमने नहीं देती है. हम ट्रेन की लंबी यात्रा में ही थक जाते हैं, अच्छे साथियों की कमी यात्रा को उदासीन बना देती है, खर्च की टेंशन अलग से… अब ये सब भूल जाइए. ट्रैवल जुनून आपके लिए ऐसे शानदार Travel Tips लेकर आया है जो आपकी ट्रैवलिंग लाइफ में चार चांद लगा देंगे. आपको कम वक्त भी देना पड़ेगा इसलिए जाहिर सी बात है, ढेर सारे दोस्तों का साथ भी मिलेगा… और खर्च तो ऐसा कि शायद आपको भी यकीन न हो. जी हां, खर्च सिर्फ 2 हजार रुपये. अगर आप दिल्ली से दूर जाएं तो इतने पैसे आप ट्रेन टिकट या फिर वॉल्वो बस के किराए पर ही खर्च कर दें. आइए हम बताते हैं आपको वो बेस्ट स्पॉट्स जो दिल्ली के पास हैं और सिर्फ 2 हजार प्रति व्यक्ति के खर्च पर आप यहां छुट्टी या वीकेंड का यादगार मजा ले सकते हैं…

Camp Wild, Dhauj: अपनी तरह का अनोखा एडवेंचर कैंप “CAMP WILD at Dhauj” मंगर गांव के नजदीक है. यह जगह गुड़गांव-फरीदाबाद बॉर्डर पर है. 12 एकड़ में फैली इस जमीन पर आपको 7 इको लॉज और 12 सफारी टेंट्स मिलेंगे. Camp Wild को Dhauj Camp के नाम से भी जाना जाता है. Dhauj में स्थित Camp Wild को हाल में सर्टिफिकेट ऑफ एक्सिलेंस का खिताब भी मिला. कॉर्पोरेट वर्ल्ड में काम करके अगर आप थक चुके हैं तो ऑफिस की स्ट्रेस को यहां आकर दूर कर सकते हैं. आप यहां अपनी ऑफिस टीम के साथ भी आ सकते हैं. कॉर्पोरेट ट्रेनर्स इस जगह को बेहद पसंद करेंगे. आखिर ये उन्हें उनकी ट्रेनिंग परीक्षण का अवसर जो देती है. गुड़गांव और दिल्ली के करीब स्थित ये फुल वन स्टॉप सॉल्युशन है. कॉर्पोरेट डे आउटिंग और वीकेंड मस्ती तलाश रहे लोगों के लिए एक मशहूर जगह है. कॉर्पोरेट पिकनिक के रूप में भी यह जगह काफी चर्चित है.

Distance: दिल्ली से लगभग 35 किलोमीटर दूर
Activities: natural Walk, Rock Climbing, Rappelling, Indoor Games, Football and all.

पढ़ें- कीड़ा जड़ीः उत्तराखंड में पाई जाती है ये नायाब बूटी, रत्ती भर की कीमत 18 लाख रुपये

Asola Bhatti Wildlife Sanctuary: असोला-भट्टी वाइल्डलाइफ सेंचुरी राजधानी के दक्षिणी छोर पर तुगलकाबाद के पास असोला में स्थित है. ये संरक्षित इलाका खुद में दिल्ली के आखिरी बचे पहाड़ी श्रृंखला और अर्ध शुष्क वन निवास स्थान को समेटे हुए है. साथ में खुद पर निर्भर वन्य जंतुओं को भी. अरावली पर्वत का उत्तरी क्षेत्र में विस्तार गुजरात में कच्छ के रण से शुरू होता है. किसी वक्त ये जंगली क्षेत्र दिल्ली में फैला हुआ था लेकिन वक्त के साथ हुए विकास ने इसे खत्म कर दिया . इस सेंचुरी में ही, ‘बटरफ्लाई पार्क’ है. इस पार्क में आम और बेहद दुर्लभ ति‍तलियां आप देख सकते हैं. ये पार्क 3 एकड़ के क्षेत्र में बना हुआ है. इस पार्क में कई हजार फूलों के पौधे हैं. कुछ फूलों के पौधे तो ऐसे हैं जिन पर काफी संख्या में तितलियों का झुंड बैठता है. ये सेंचुरी Southern Ridge पर स्थित है. ये अरावली पर्वत श्रृंखला का northern terminal है. अरावली दुनिया के सबसे पुराने पर्वतों में से एक है.

Location: Shooting Range Rd, Asola Wild Life Sanctuary, Asola, New Delhi, Delhi 110044

समयः सुबह साढ़े 9 बजे खुलता है, मंगलवार बंद

Power Paragliding in Sohna, Gurgaon: ऐसे लोग जो हवा में थ्रिल करना चाहते हैं, उनके लिए ये बेस्ट स्पॉट है. अगर आप जमीन और पानी से ऊब चुके हैं तो ये जगह आप ही के लिए है. आप यहां पैराग्लाइडिंग करते वक्त ऐसा महसूस करेंगे जैसे आप कोई चिड़िया हों और ईश्वर ने आपको पंख दे दिए हैं. हालांकि यहां पैराग्लाइडिंग से पहले सुरक्षा के सभी उपाय सुनिश्चित कर लें. हालांकि ये एक आसान ट्रिप है लेकिन शुरुआत में आपको डर लग सकता है. ऐसे वक्त में पायलट आपको हिम्मत देते हैं. यहां पैराग्लाइडिंग मोटर्ड पैराग्लाइड पर होती है, इससे आपको आसमान में किसी बाइक को चलाने जैसा अहसास होगा. आप ताउम्र इस अनुभव को बुला नहीं पाएंगे. यहां आसपास के नजारे भी आपको मोह लेंगे.

Distance: दिल्ली से 63 किलोमीटर दूर

Shikhar Adventure park, Gurgaon: शिखर एडवेंचर पार्क कॉर्पोरेट इवेंट्स और टीम बिल्डिंग प्रोग्राम के लिए ideal venue है. यहां इसके साथ ही स्कूल और यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स के एजुकेशनल ट्रिप्स, फैमिली इवेंट्स, पिकनिक, बर्थडे पार्टीज और खास मौकों पर प्रोग्राम आयोजित किए जाते हैं. ट्रेनिंग प्रोग्राम और बिजनेस गेट टु गेदर के लिए भी ये स्पॉट बेस्ट है. यहां अलग अलग उम्र के लोगों के लिए डिजाइन किए गए प्रोग्राम हैं.. pottery making, tractor ride और cane furniture making से यहां आपको गांव के जीवन से भी रूबरू कराया जाता है. अपने दिमाग को फ्री करें और सर्दी में सूरज की किरणों के तले खुले में कुछ पल बिताएं. ये कैंप 4.5 एकड़ के हरे भरे मैदान में फैला है. वजीरपुर गांव में आप सेंट्रल दिल्ली से डेढ़ घंटे की ड्राइविंग से पहुंच सकते हैं.

Distance: गुड़गांव से 20 किलोमीटर दूर और दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से 30 किलोमीटर दूर.

Botanix Nature Resort, Gurgaon: Botanix Adventure Camp / Farm Tourism Destination अरावली की गोद में और दमदमा लेक के किनारे बसा हुआ है. गुड़गांव से 25 मिनट की ड्राइव कर यहां आप पहुंच सकते हैं. 30 एकड़ का ग्लोबल ग्रीन पार्क कई थीम पार्क और प्रकृति की शानदार चीजें समेटे हुए हैं. यहां आप खुलकर कुछ पल प्रकृति के बीच बिता सकते हैं वो भी तनाव से दूर. यहां आप पेड़ों से बात कीजिए और तितलियों से दोस्ती…

Location: Damdama Village, Near Damdama Lake, on Damdama Sohna Road, Tehsil Sohna,
Dist. Gurgaon, Haryana

Neemrana Town, Alwar District: राजस्थान के अलवर जिले में नीमराना एक ऐतिहासिक कस्बा है. ये दिल्ली से 122 किलोमीटर दूर है. जयपुर से इसकी दूरी 150 किलोमीटर है. ये बेहरोर तहसील में बेहरोर और शाहजहानपुर के बीच स्थित है. नीमराना एक इंडस्ट्रियल हब है. ये एरिया भारत में मिनी जापान के रूप में भी चर्चित है. 16वीं सदी में बनाया गया किला यहां का मुख्य आकर्षक है जिसपर 1947 तक चौहानों का आधिपत्य था. इस वंश को पृथ्वीराज चौहान से संबंधित माना जाता है. नीमराना से कुछ ही दूरी पर केसरोनी किला है जो बेहद पुरानी heritage site है. इतिहासकार इसे महाभारत काल के मतस्य जनपद से जोड़कर देखते हैं. केसरोली में विराटनगर के बौद्ध विहार को भी आप देख सकते हैं जहां पांडवों ने अपने अज्ञातवास के आखिरी कुछ दिन गुजारे थे.

Distance: अलवर हेडक्वॉर्टर से 64 किलोमीटर उत्तर में

Mud Fort, Kuchesar: राव राज विलास, जिसे कुचेसर फोर्ट के नाम से भी जाना जाता है, ये 18वीं शताब्दी का एक किला है जो यूपी के बुलंदशहर जिले में स्थित है. प्रिंसली स्टेट रह चुके कुचेसर में इस किले के कुछ हिस्से को आज हेरिटेज रिजॉर्ट में बदला जा चुका है. ये 1734 में बनाया गया ये किला 100 एकड़ के आम के बाग से घिरा हुआ है. गढ़मुक्तेश्वर की तरफ जाने वाले NH-24 पर एक छोटा सा कस्बा “Kuchesar Road Chopla” है. यहां एक रोड है जो स्याना से जुड़ती है. चोपला पर 7 किलोमीटर आगे बढ़ने के बाद कुचेसर आता है. कुचेसर किला यहीं पर है.

Location: Kuchesar Rd , Distt Bulandshahar, Kuchesar, Uttar Pradesh

Thakran Farms, Pataudi: एक प्राइवेट जमीन पर बना ठकरान फार्म गुड़गांव से 40 किलोमीटर दूर है. शोर, चमक धमक और प्रदूषण से दूर यहां कोई भी चीज आपको प्रकृति से दूर नहीं कर सकती है. पटौदी के नवाब ने ये जमीन 110 साल पहले यहां के मालिकों को बेची थी. 70 साल पहले यहां कीकर के जंगल हुआ करते थे. तभी से ये लैंडस्केप बदलता ही चला जा रहा है. आज एक शांत फार्म के रूप में यहां परिवार के हर सदस्य को व्यस्त करने के लिए काफी कुछ है. यहां प्लांटेशन पर काफी जोर दिया गया है. 4 नीम के पेड़ों से हुई शुरुआत आज हजारों पेड़ों तक पहुंच चुकी है. आम, किन्नू, नींबू, अमरूद, सीताफल, संतरे के यहां 200 से भी अधिक पेड़ हैं.

Location: Thakran Farms, Village Lohaka near Lokra Village, Pataudi Tehsil,

Distance: 6 kms from Pataudi Palace on Malpura Road

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: