कनातलः मई में भी हम ठंड से ठिठुर रहे थे, 250 रुपये में किया था होम स्टे!

कनातलः मई में भी हम ठंड से ठिठुर रहे थे, 250 रुपये में किया था होम स्टे!

On

मुकेश तिवारी एक रात ऋषिकेश में बिताने के बाद हम कनातल पहुंचे थे. ऋषिकेश से आगे पहाड़ के किसी भी इलाके की ये मेरी पहली यात्रा थी. ऋषिकेश से आगे बढ़ते ही मैं एक अलग अहसास को अनुभव कर पा रहा था….

नगालैंड का ‘भोजन’, जो ‘चिकन प्रेमियों’ के भी होश उड़ा दे!

नगालैंड का ‘भोजन’, जो ‘चिकन प्रेमियों’ के भी होश उड़ा दे!

On

नगा धरती पर मौजूद हर उस चीज को खाते हैं जिसमें प्राण हैं. वो कीट पतंगों और कीड़े मकौड़ों तक को नहीं छोड़ते हैं. लेकिन जिस चीज को वो मजे से खाते हैं वो हैं  जंगली जानवर. वह स्वभाव से ही लड़ाके…

मध्य प्रदेश का पन्ना शहर, जहां धरती से निकलते हैं बेशकीमती हीरे…

मध्य प्रदेश का पन्ना शहर, जहां धरती से निकलते हैं बेशकीमती हीरे…

On

पन्ना, ये जगह भारत की उस एकमात्र जगह में से है जहां हीरे पाए जाते हैं. पन्ना की पहचान हीरों के लिए ही नहीं है. यह जगह वन्य जीवों के संरक्षण और टाइगर रिजर्व के लिए भी मशहूर है. भारत का 22वां…

पहाड़ी हाउसः कनातल के इस घर जैसा सुकून 5 स्टार होटलों में भी नहीं!

पहाड़ी हाउसः कनातल के इस घर जैसा सुकून 5 स्टार होटलों में भी नहीं!

On

बचपन में मैं अपनी कल्पनाओं को कागज पर उकेरता था. कभी कभी किए जाने वाले इस अभ्यास में मैं कागज पर सीनरी बनाया करता था. इसे सभी बच्चे बनाते होंगे. कागज पर पेंसिल और रंगों से मैं यूं ही घुच्च मुच्च कर…

अकल्पनीयः तिब्बत-ब्रह्मपुत्र का नक्शा तैयार करने वाले नैन सिंह रावत की कहानी!

अकल्पनीयः तिब्बत-ब्रह्मपुत्र का नक्शा तैयार करने वाले नैन सिंह रावत की कहानी!

On

गुलाम भारत के ऐसे किस्से कम ही सुनाई देते हैं जब अंग्रेजों ने किसी भारतीय के काम का लोहा माना हो या उसकी तारीफ की हो. अंग्रेजों के मन में पंडित नैन सिंह रावत के लिए बड़ा सम्मान था. नैन सिंह रावत…

फ्री में घूमिए ऋषिकेश, आने-जाने-खाने की यहां नो टेंशन!

फ्री में घूमिए ऋषिकेश, आने-जाने-खाने की यहां नो टेंशन!

On

ऋषिकेश एक ऐसी जगह हैं जहां का राम झूला-लक्ष्मण झूला तो आम भारतीयों के जहन में घूमता रहता है लेकिन यहां गंगा घाट, परमार्थ निकेतन, बीटल आश्रम, नीलकंठ, कुंजापुरी देवी मंदिर और पहाड़ों की गोद में ऐसी कई जगहें हैं जहां जाकर…

…’जय श्री राम’ सुनकर 10 फीट दूर चला गया खतरनाक बंदरों का झुंड!

…’जय श्री राम’ सुनकर 10 फीट दूर चला गया खतरनाक बंदरों का झुंड!

On

ब्रह्मगिरी यात्रा के पहले भाग में आप कई अनुभवों को जान चुके होंगे. अब लेख के अगले हिस्से में मैं आपको पहाड़ी पर अपने जाने, मंदिरों में पूजा से लेकर बंदरों के डर से जुड़े घटनाक्रम को साझा कर रहा हूं. नासिक के…

ग्वालियरः लक्ष्मीबाई ने लड़ा था 1857 का संग्राम, यही है राजपूत औरतों के जौहर की धरती

ग्वालियरः लक्ष्मीबाई ने लड़ा था 1857 का संग्राम, यही है राजपूत औरतों के जौहर की धरती

On

मध्य प्रदेश में स्थित ग्वालियर शहर ऐतिहासिक गाथाओं को खुद मे लपेटे हुए है. 82 वर्ग किलोमीटर में यह शहर बसा है. ग्वालियर अपने ऐतिहासिक किलों और बेहद खूबसूरत मंदिरों के लिए जाना जाता है. ग्वालियर के किले की भव्यता और विशालता…

ब्रह्मगिरी का सफरः जैसे हम ‘स्वर्ग की सीढ़ियां’ चढ़ रहे थे!

ब्रह्मगिरी का सफरः जैसे हम ‘स्वर्ग की सीढ़ियां’ चढ़ रहे थे!

On

महाराष्ट्र में नासिक एक बेहद सुंदर जिला है. दिल्ली, वाया गाजियाबाद और नोएडा में अपनी जिंदगी के 27 साल बिता चुका हूं इसलिए इस शांत जगह मेरा मन कुछ ज्यादा ही रमता है. यहां पीक ऑवर्स में भी कभी जाम नहीं लगता,…

फ्री में घूम सकते हैं पूरी दुनिया, ये हैं 5 काम की ट्रिक्स!

फ्री में घूम सकते हैं पूरी दुनिया, ये हैं 5 काम की ट्रिक्स!

On

किसी हॉलीडे को प्लान करते वक्त ढेरों कॉस्ट फैक्टर्स होते हैं. वह अकॉमोडेशन हो सकता है, खाना-पीना हो सकता है और ट्रांस्पोर्ट भी हो सकता है. आप कम खर्च में रहकर पैसे बचा सकते हैं लेकिन खाने-पीने पर समझौता नहीं किया जा…