टपकेश्वर महादेव मंदिरः जिस गुफा में अश्वतथामा को भोलेनाथ ने पिलाया था दूध!

टपकेश्वर महादेव मंदिरः जिस गुफा में अश्वतथामा को भोलेनाथ ने पिलाया था दूध!

On

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में स्थित टपकेश्वर मंदिर (Tapkeshwar Mandir) एक लोकप्रिय गुफा मंदिर हैं जो भगवान शिव को समर्पित है. देहरादून के टपकेश्वर मंदिर को टपकेश्वर महादेव मंदिर के नाम से भी जाना जाता है. भगवान शिव को समर्पित ये एक…

मैकलॉडगंजः भारतीयों की ‘आदत’ ने जिस शहर को बिगाड़ दिया…

मैकलॉडगंजः भारतीयों की ‘आदत’ ने जिस शहर को बिगाड़ दिया…

On

भारत में ट्रैवल इंडस्ट्री बूम पर है. ट्रैवल इंडस्ट्री की इस बूम ने दादी-नानी के घर मनाई जाने वाली छुट्टियों को हिल स्टेशन के हॉलीडेज में बदल दिया है. देश में तेजी से बदले इस ट्रेंड ने पहाड़ी और पर्यटन क्षेत्रों की…

कछुआ से बना है कठुआ! कितना जानते हैं इस शहर के बारे में आप?

कछुआ से बना है कठुआ! कितना जानते हैं इस शहर के बारे में आप?

On

कठुआ (Kathua) भारत के जम्मू-कश्मीर में स्थित एक म्युनिसिपल काउंसिल है. देश में लगभग ज्यादातर लोग कठुआ को इसी रूप में पहचानते हैं. हालांकि कठुआ शब्द की उत्पत्ति ठुआं से हुई जो एक डोगरी शब्द है और इसका मतलब स्कोर्पीन होता है….

नैनीतालः कम बजट में ऐसे करें झीलों के शहर की यात्रा

नैनीतालः कम बजट में ऐसे करें झीलों के शहर की यात्रा

On

अगर आप घूमने का शौक रखते हैं लेकिन बजट आपके लिए बड़ी समस्या है तो नैनीताल हो सकता है आपके लिए बजट फ्रेंडली हॉलीडे डैस्टिनेशन। नैनीताल को झीलों का शहर कहा जाता है। दिल्ली से लगभग 320 किमी दूर उत्तराखण्ड की वादियों…

देश की पहली महिला कुली, जिसने तकदीर को आंसू नहीं ‘पसीना’ बना दिया!

देश की पहली महिला कुली, जिसने तकदीर को आंसू नहीं ‘पसीना’ बना दिया!

On

अगर आप नारी शक्ति का सबसे ताजा उदाहरण देखना चाहते हैं तो आपको मध्य प्रदेश के कटनी रेलने स्टेशन आना होगा. हम में से ज्यादातर लोग पुरुषों को ही कुली के रूप में कार्य करते देख बड़े हुए हैं. हालांकि, मध्य प्रदेश…

लद्दाख-लेह के गांव में गुजारिए 14 दिन, खर्च होगी सिर्फ आधी सैलरी!

लद्दाख-लेह के गांव में गुजारिए 14 दिन, खर्च होगी सिर्फ आधी सैलरी!

On

3-4 दिन की ट्रैवलिंग का कॉन्सेप्ट लगभग देश के सभी हिस्से में है लेकिन क्या आप किसी जगह 14 दिन की यात्रा करने की कल्पना भी कर सकते हैं? लेह और लद्दाख ( Leh and Ladakh ) की ऐसी ही अविश्वसनीय यात्रा…

पश्तूनः नीली आंखों पर जिनका ‘जन्मसिद्ध’ अधिकार है! इजरायल से है गहरा रिश्ता

पश्तूनः नीली आंखों पर जिनका ‘जन्मसिद्ध’ अधिकार है! इजरायल से है गहरा रिश्ता

On

पश्तून कहिए, पख्तून कहिए या पठान कहिए… इन तीनों का एक ही अर्थ है. नीली आंखें, सिल्की बालों की नियामत जैसे इन्हीं पर बरसी है. अगर आपने बॉलीवुड की फिल्म ‘खुदा गवाह’ देखी है तो पठानों की छाप आपके जहन पर जरूर…

होली 2018: पाकिस्तान से आई तस्वीरें, लाहौर-कराची में खेली गई जमकर होली….

होली 2018: पाकिस्तान से आई तस्वीरें, लाहौर-कराची में खेली गई जमकर होली….

On

भारत में मथुरा से मुंबई तक आपने होली के खूब रंग देख भी लिए होंगे और होली खेल भी ली होगी. अब हम आपको तस्वीर दिखाने जा रहे हैं पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की. पाकिस्तान (Pakistan) में हिंदू समुदाय के लोगों ने खूब…

अयोध्या और राम जन्मभूमि के पास ही है ये दरगाह, हिंदू-मुस्लिम साथ उड़ाते हैं यहां गुलाल!

अयोध्या और राम जन्मभूमि के पास ही है ये दरगाह, हिंदू-मुस्लिम साथ उड़ाते हैं यहां गुलाल!

On

हाजी हाफिज सैयद वारिस अली शाह (हाजि वारिस अली शाह या सरकार वारिस पाक- 1817-1905) देवा, बाराबंकी में एक सूफी संत रहे हैं. उन्होंने सूफीवाद में वारसी पंथ को बनाया. उन्होंने पश्चिम की विस्तृत यात्रा भी की. ऐसा कहा जाता है कि…

लद्दाख का सफरः जब हमें मौत के मुंह से खींच लाया ITBP का एक जांबाज!

लद्दाख का सफरः जब हमें मौत के मुंह से खींच लाया ITBP का एक जांबाज!

On

अनूप देव सिंह – मेरी लद्दाख (Ladhakh) यात्रा मैं घूमने का शौक रखता हूं और मेरा ये शौक किसी जुनून से कम भी नहीं. मैं केदारनाथ घाटी से आगे वासु की ताल की यात्रा अकेले कर चुका हूं. बदरी विशाल से आगे…